कानपुर खिलाएगा लाखों रेल यात्रियों को खाना

ट्रेनों की पेंट्रीकार से मिलने वाले खाने की क्वालिटी को लेकर आए दिन होने वाली शिकायतों को दूर करने के लिए रेलवे ने 40 प्रतिशत ट्रेनों में खाने की सप्लाई आईआरसीटीसी को दे दी है. जिसमें बेस किचन से ताजा खाने की सप्लाई की जाएंगी. दिल्ली-हावड़ा रूट की 50 से अधिक ट्रेनों में सप्लाई होने वाला खाला कानपुर से सप्लाई किया जाएगा. इसके लिए आईआरसीटीसी कानपुर सेंट्रल के सिटी साइड स्थित खाली पड़ी जमीन पर मल्टी स्टोरी बेस किचन बनवाने जा रहा है. 20 करोड़ से बनने वाले बेस किचन के लिए अगले महीने काम शुरू हो जाएगा.

लखनऊ से दिल्ली, पंजाब और जम्मू की ओर जाने वाली ट्रेनों के यात्रियों का खाना कानपुर में पकेगा। आईआरसीटीसी इसके लिए कानपुर में बेस किचन बना रहा है। जहां यह बनेगा और ट्रेनों में इसे गरम कर यात्रियों को परोसा जाएगा। इसके साथ ही इलाहाबाद, झांसी व मथुरा में भी बेस किचन बनाए जा रहे हैं। इनका काम भी मार्च तक पूरा हो जाएगा।

बीते साल फरवरी में रेलवे बोर्ड ने नई कैटरिंग पॉलिसी जारी की थी। इसके तहत ट्रेनों व स्टेशन पर खानपान की सभी सेवाओं का जिम्मा भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) को सौंपा गया है। ट्रेनों में खाना बांटने व उसे बनाने का काम दो अलग एजेंसियों को सौंपने की तैयारी की गई। इसी के तहत स्टेशनों पर बेस किचन बनाए जा रहे हैं।

जहां खाना पकेगा और उसे पैक कर ट्रेनों में सप्लाई किया जाएगा। इससे जहां गुणवत्ता सुधरेगी वहीं ओवरचार्जिंग पर भी लगाम लगेगी। आईआरसीटीसी अधिकारियों की मानें तो दिल्ली से हावड़ा और दिल्ली से मुम्बई रूट पर के स्टेशनों पर बेस किचन का काम शुरू हो गया है।

लखनऊ से दिल्ली, पंजाब व जम्मू की ओर जाने वाली गाड़ियों में खाने की सप्लाई के लिए कानपुर में बेस किचन बन रहा है। इलाहाबाद, मथुरा व झांसी में भी बेच किचन बनाए जा रहे हैं। इनका काम मार्च तक पूरा हो जाएगा। दूसरे चरण में चारबाग रेलवे स्टेशन और गोरखपुर व वाराणसी में बेस किचन बनाए जाएंगे। यह काम भी दिसम्बर तक पूरा हो सकता है।

संक्षेप:

  • IRCTC कानपुर में बनाएगी बेस किचन
  • दिल्ली, पंजाब और जम्मू जाने वाले यात्रियों का खाना बेस किचन में पकेगा
  • इलाहाबाद, झांसी और मथुरा में भी जल्द बनेंगे बेस किचन

भारतीय रेलवे ने ऊर्जा एवं पर्यावरण संरक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण लक्ष्य को प्राप्त किया है, 30 मार्च 2018 को देश के सभी रेलवे स्टेशन 100% LED बल्ब से रोशन कर दिये गये हैं, जिससे प्रतिवर्ष ₹50 करोड़ की बचत होगी, यह लक्ष्य निर्धारित समय से एक दिन पहले ही पूर्ण कर लिया गया।

अब अपनों के साथ ग्रुप बनाकर घूमो, रेलवे ने आसान किया आपका सफर, जानें कैसे?

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s