अब अपनों के साथ ग्रुप बनाकर घूमो, रेलवे ने आसान किया आपका सफर, जानें कैसे?

गर्मी की छुट्टी, शादी-विवाह या अन्य कारणों से समूह में कराए जाने वाले आरक्षण के नियमों को रेलवे ने आसान किया है। 50 यात्रियों तक समूह में आरक्षण के लिए चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर से ही अनुमति मिल जाएगी। स्टेशन अधीक्षक भी इसकी अनुमति दे सकते है। अभी तक इनके ऊपर के अफसरों से अनुमति लेनी होती थी। सामान्य तरीके से एक फार्म पर अधिकतम छह यात्रियों के ही रिजर्वेशन हो सकते हैं। अब ऐसे कराएं ग्रुप टिकट रिजर्वेशन…

सुबह नौ बजे के बाद कभी भी ग्रुप रिजर्वेशन के लिए आवेदन कर सकते हैं। छह से ज्यादा यात्रियों के लिए अलग अलग फार्म भरने से उस कोच में सीट मिलना या सभी की सीट कन्फर्म होने की संभावना बहुत कम होती है। ऐसे में सामूहिक रिजर्वेशन के नियम आसान होने से उसी बोगी में आसानी से ग्रुप रिजर्वेशन हो जाएंगे। शादी विवाह, स्कूली टूर पर जाने के लिए भी यह नियम लागू होंगे।

50 यात्रियों के समूह को रिजर्वेशन कराने के लिए आरक्षण केंद्र के चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर, शिफ्ट प्रभारी या स्टेशन अधीक्षक से अनुमति लेनी होगी। 100 लोगों के लिए एरिया मैनेजर, एसीएम (सहायक वाणिज्य प्रबंधक) की अनुमति और इससे ज्यादा के यात्रियों केरिजर्वेशन के लिए सीनियर डीसीएम, डिप्टी सीटीएम और डीटीएम से अनुमति लेनी होगी। इसके लिए एक फार्मेट फार्म में यात्रा की जानकारी भरकर संबंधित अधिकारी को एक आवेदन पत्र भी देना होगा। यह पत्र स्कूल, संस्थान, विभाग के मुखिया की तरफ से उसके लेटर पैड पर होगा।

शादी के लिए शादी का कार्ड या शपथ पत्र भी साथ में लगाना होगा। जितने लोगों को यात्रा करनी है, उनके नाम, उम्र, जेंडर, मोबाइल नंबर, पता की जानकारी वाले पत्र की तीन कॉपी जमा करनी होगी। साथ ही बुकिंग कराने वाले को अपनी किसी आईडी की फोटो कॉपी देनी होगी। अगर  ग्रुप रिजर्वेशन होने के बाद उसमें कुछ यात्रियों की जगह दूसरे यात्री को ले जाना है तो यात्रा के 48 घंटे पहले संबधित विभाग के मुखिया की तरफ से आवेदन करना होगा। ग्रुप में जाने वाले 10 फीसदी से ज्यादा यात्रियों को नहीं बदला जा सकता है। ग्रुप या बल्क रिजर्वेशन में ऑनलाइन टिकट कराने की सुविधा नहीं है।

‘गर्मी की छुट्टियों में आम तौर पर लोग समूह में ट्रेन का सफर करते हैं। उनकी सुविधा के अनुसार रेलवे लगातार उन्हें आसानी दे रहा है। सीटों की उपलब्धता को देखते हुए रिजर्वेशन स्टेशन से कराए जा सकते हैं।’
– अमित मालवीय, जनसंपर्क अधिकारी, उत्तर मध्य रेलवे

कानपुर से सिकंदराबाद और अहमदाबाद के लिए नई ट्रेनें

कानपुराइट्स को रेलवे एक बड़ा तोहफा देने जा रहा है. रेलवे कानपुर से सिकंदराबाद और अहमदाबाद तक दो नई ट्रेनें चलाने जा रहा है. दोनों ही ट्रेन के शुभारंभ की डेट व टाइम भी तय हो चुकी है. एक-दो दिन में इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी जाएगी. ट्रेन 9 व 12 अप्रैल को कानपुर से रवाना होगी. श्रमशक्ति एक्सप्रेस से हटाए गए 24 आईसीएफ कोच बिना प्रयोग न्यू वाशिंग लाइन में खड़े हैं.

-कानपुर-सिकंदराबाद 12 अप्रैल से हर गुरुवार चलेगी. जोकि कानपुर से शाम 6.40 पर उरई, झांसी, बीना, भोपाल होते हुए सिकंदराबाद पहुंचेगी.

-कानपुर-अहमदाबाद 9 अप्रैल से हर सोमवार को कानपुर से चलेगी. जो इटावा, टूंडला, आगरा होते हुए अहमदाबाद जाएगी.

कानपुर से नई ट्रेनें चलाई जा रही हैं. पैसेंजर्स की बढ़ती संख्या को देखकर रेलवे ने ये फैसला लिया है. इससे कानपुराइट्स को काफी राहत मिलेगी.

गौरव कृष्ण बंसल, सीपीआरओ, एनसीआर

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s