कानपुर रेल हादसे के बाद भी सुधर नहीं रही है भारतीय रेल, कर दी एक और बड़ी गलती

कानपुर. कानपुर के पुखरांया में हुई इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटना में मरने वालों की संख्या 150 के पार पहुंच गई है। रेलवे ने दुर्घटना में 113 मृतकों की सूची जारी की है लेकिन इस सूची को भी भारतीय रेलवे के अधिकारी सही से नही बना सके। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस मृतक सूची में एक नाम भोपाल के कोलार की रहने वाली पूनम तिवारी का भी है। सूची में पूनम को मृत बताया गया है लेकिन पूनम ने खुद सामने आकर बताया है कि वह अभी ज़िंदा है। पूनम ने कहा कि वो अपने पति एलके तिवारी के साथ सकुशल पटना पहुंच गई हैं।
indian-railway-include-one-live-woman-name-in-113-people-list-dead-in-indore-patna-express-accident-near-pukhrayan-kanpurकिस आधार पर मुझे किया मृत घोषित?
पूनम पटना में भतीजे की शादी में शामिल होने के लिए ट्रेन के A-1 कोच में यात्रा कर रहीं थीं। पूनम का कहना है कि मेरे जिंदा होने के बावजूद रेलवे के अफसरों ने हादसे की रिपोर्ट में मुझे किस आधार पर मृत घोषित कर दिया, इसकी जांच होनी चाहिए। पूनम में मामले पर पश्चिम मध्य रेलवे के पीआरओ आईए सिद्दीकी ने कहा कि मृतकों की लिस्ट झांसी डिवीजन से भेजी गई है। पूनम तिवारी के मामले में स्पष्टीकरण झांसी डिवीजन द्वारा ही दिया जा सकेगा।
अधिक लोड की वजह से हुआ हादसा
इंदौर-पटना एक्स्प्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे एक कारण इसमें अधिक लोड भी माना जा रहा है। ट्रेन में इंदौर से क्षमता से ज्यादा बोगियां लगाई गई थीं। 22 बोगियों की क्षमता वाली इस एक्स्प्रेस ट्रेन में हादसे वाले दिन 23 बोगियां लगी थीं। अतिरिक्त कोच B-3 था, जिसमें सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। इसके पीछे S-1 कोच था। इन कोचों में ही यात्रियों को खड़खड़ की आवाज के साथ हिचकोले लग रहे थे। इससे आशंका है कि अतिरिक्त कोच में कुछ गड़बड़ी थी।
ड्राइवर ने सौंपी अपनी रिपोर्ट
रेलवे के उच्च सूत्रों के मुताबिक ड्राइवर ने अपनी रिपोर्ट अफसरों को दी है। इसमें उसने बताया है कि लोट ज्यादा होने से कुछ डिब्बों में खड़खड़ की आवाजों की शिकायतें आ रही थीं। झांसी से चलने के बाद डिवीजन के एक अफसर को फोन पर सूचना दी तो उसे कानपुर पहुंचने का हुक्म मिला। ओवरहेड इलेक्ट्रिक केबल में धमाका होने पर उसने इमरजेंसी ब्रेक लगाई थी। अगर वह इमरजेंसी ब्रेक न लगाता तो इससे भी बड़ा हादसा हो सकता था।
रेलकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
इंदौर पटना एक्सप्रेस हादसे में यूपी पुलिस ने अज्ञात रेलकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इस हादसे में अब तक 150 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई है। कानपुर के पास पुखराया में इंदौर पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए थे। हादसा तब हुआ जब ट्रेन पुखराया स्टेशन से कानपुर के लिए निकली ही थी। हादसा रविवार तड़के लगभग 3 बजे हुआ था। सेना और एनडीआरएफ के जवान लगातार दो दिन बोगियों में फंसे लोगों और लाशों को निकालने में जुटे रहे।
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s