ट्रेनों का रूट बदला, सेंट्रल पर हंगामा

21_11_2016-21lal-10-c-2कानपुर- संवाददाता : झांसी रेलमार्ग पर पुखरायां में इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे के बाद ट्रैक बाधित है जिससे कई ट्रेनों को निरस्त करने के साथ ही कई ट्रेनों के रूट बदल दिए गए जिससे यात्रियों ने हंगामा किया।

सोमवार को झांसी रेलमार्ग की कई ट्रेनें कानपुर सेंट्रल नहीं आईं बल्कि विभिन्न रास्तों से उन्हें चलाया गया। इसकी वजह से सुबह से ही सेंट्रल स्टेशन पर यात्री परेशान रहे। गोरखपुर से यशवंतपुर जाने वाली सुपरफास्ट ट्रेन को भी वाया इलाहाबाद चलाया गया। यह ट्रेन नहीं पकड़ पाई एक युवती ने सेंट्रल स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। इसी तरह इटारसी के लालमणि, बेंगलुरु के इशरत अली समेत दर्जनों परिवार ट्रेनों के रूट बदलने से परेशान रहे। यात्रियों का कहना था कि उन्हें रूट बदलने की कोई जानकारी नहीं दी गई।

ट्रेन हादसे के पीड़ितों को जानकारी देने के लिये प्लेटफार्म नंबर एक पर ट्रेन हादसे में मृत व घायलों की सूची चस्पा की गई और पीड़ितों की मदद को कंट्रोलरूम में मुख्य टिकट निरीक्षक दिवाकर तिवारी, एसके शर्मा, वीरेंद्र चौधरी आदि मौजूद रहे जबकि प्राथमिक चिकित्सा के लिये रेलवे लोको अस्पताल की टीम में मौजूद रही।

2500 से अधिक टिकट वापस

घटना के चलते 2500 से अधिक यात्रियों ने टिकट वापस करा दिए। इसी तरह टिकटघर, प्लेटफार्मो पर सन्नाटा छाया रहा। बताते चलें कि रविवार की भोर में पुखरायां मलासा के मध्य हुए ट्रेन हादसे के बाद झांसी पैसेंजर और झांसी इंटरसिटी एक्सप्रेस को निरस्त करना पड़ा जबकि कई ट्रेनों को विभिन्न रूटों पर डायवर्ट कर दिया गया। भीमसेन, बांदा, इटारसी, आगरा, टूंडला, इलाहाबाद, मानिकपुर होते हुए ट्रेनें चलाई गईं।

कानपुर मंगवाया जाएगा घायलों का सामान

22_11_2016इंदौर पटना एक्सप्रेस रेल हादसे में घायल हुए लोगों से मिलने सूबे के मुख्य सचिव राहुल भटनागर सोमवार सुबह हैलट अस्पताल आए। इमरजेंसी, आईसीयू एवं वार्डो में भर्ती घायलों से मिले। उनके इलाज के बारे में प्राचार्य से जानकारी ली। उन्होंने सरकार की तरफ से घायलों को दस-दस हजार रुपये धनराशि भी दिलाई ताकि उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत न होने पाए।

अस्पताल में भर्ती घायलों से मिलने के बाद पत्रकारों से मुखातिब मुख्य सचिव ने कहा कि अस्पताल का राउंड लेकर घायलों का हाल जाना है। उन्हें फौरी तौर पर राहत के लिए दस-दस हजार रुपये नकद दिलाए हैं, ताकि उन्हें दिक्कत न होने पाए। दस हजार रुपये में सौ-सौ रुपये के 20 नोट एवं दो हजार रुपये के चार नोट हैं। शेष धनराशि उनके एकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी। उन्होंने कहा कि अस्पताल में घायलों की अच्छी देखभाल हो रही है। घायलों का सामान कानपुर देहात पुलिस लाइन से यहां मंगवाने का आदेश जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को दिया है। मंगलवार तक सामान आ जाएगा। घायलों के डिस्चार्ज होने पर पहचान कराकर उन्हें उनका सामान दे दिया जाएगा। इस दौरान प्राचार्य डॉ. नवनीत कुमार, एडीएम सिटी अविनाश सिंह, सीएमओ डॉ. आरपी यादव थे।

d115867220गायब परिजनों की कराएं पड़ताल

मुख्य सचिव ने कहा कि कई घायलों ने परिजनों के गायब होने की शिकायत की है। इसके लिए मंडलायुक्त इफ्तिखारुद्दीन एवं जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को आदेश दिया है कि सभी अस्पतालों में भर्ती घायलों की सूची मंगवाकर मिलान कराएं। उसके बाद मृतकों की सूची में भी उनके नाम चेक करें। इसके बाद भी न मिलें तो परिजनों को फोटो दिखाकर उनसे शिनाख्त कराएं।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s