बच्चों को दूध पीने के लिए अब घर से गिलास नहीं लाने पड़ेंगे।

स्कूल में ही उपलब्ध होंगे गिलास
कानपुर : परिषदीय स्कूलों के बच्चों को दूध पीने के लिए अब घर से गिलास नहीं लाने पड़ेंगे। शिक्षक ही बच्चों को गिलास उपलब्ध कराएंगे। यह निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विष्णु प्रताप सिंह ने जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी स्कूल में बच्चे दूध पीने के लिए बर्तन नहीं लाएंगे। विद्यालय अनुदान विकास निधि समेत अन्य मदों में मिलने वाली धनराशि से शिक्षक बच्चों को गिलास व थाली की व्यवस्था कराएंगे।

विद्यालय अनुदान विकास निधि के अंतर्गत प्रत्येक विद्यालयों को 5 हजार रुपए की धनराशि मुहैया कराई जाती है। इस राशि को विद्यालय के रख-रखाव समेत अन्य मदों में खर्च किया जाता है। इसी राशि से अब बच्चों के लिए गिलास आएंगे। पिछले बुधवार को ज्यादातर स्कूलों के बच्चे मिड-डे मील में मिलने वाले दूध के लिए घर से गिलास लाए थे। जो नहीं लाए थे उन्हें खाने की थाली से दूध पीना पड़ा था। बीएसए के निर्देश अनुसार इस धनराशि से स्टील के गिलास उपलब्ध कराए जा सकते हैं। आज बंटेगा स्कूलों में दूध: परिषदीय स्कूलों में तीसरे बुधवार को बच्चों को दूध का वितरण किया जाएगा। सुबह स्कूल पहुंचते ही उनको 200 मिलीलीटर दूध दिया जाएगा। फिर खाने में कोफ्ता-चावल दिया जाएगा।

Advertisements